Uncategorized

आज  … दिन कुछ ख़ास है!

बूंदों की आहटों पे जब दिल मचलने लगे दिल के समंदरों में जब ख्वाब पलने लगे समझ लेना की आज  ... दिन कुछ ख़ास है!   पलकों  के झरोखे में से नींद ढलने लगे चंचल सी ये काली लटें, फिर घटाओं सी उड़ने लगे समझ लेना की आज  ... दिन कुछ ख़ास है!   जब… Continue reading आज  … दिन कुछ ख़ास है!